Home उत्तराखंड झबरेड़ा:👉 कस्बा तथा ग्रामीण क्षेत्र में बिजली कटौती को लेकर भारी रोष,...

झबरेड़ा:👉 कस्बा तथा ग्रामीण क्षेत्र में बिजली कटौती को लेकर भारी रोष, ऊर्जा निगम द्वारा प्रतिदिन हो रही घोषित बिजली कटौती

80
Listen to this article

झबरेड़ा। अघोषित बिजली कटौती लोगों पर भारी पड़ रही है बिजली सुबह और शाम के समय कटौती होने पर लोगों को पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है और वही रातों में तकनीकी कमी के कारण टहलकर लोगों को समय काटना पड़ रहा है लोगों में ऊर्जा निगम के प्रति भारी रोष व्याप्त है।

कस्बा झबरेड़ा तथा ग्रामीण क्षेत्र में कई रोज से अघोषित बिजली कटौती की जा रही है जिससे लोगों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है कस्बा तथा ग्रामीण वासी ऋषभ शर्मा प्रवीण चौधरी कपिल सैनी रोहित बीरम सिंह प्रदीप कुलदीप सिंह सुरेंद्र रजनीश सुफियान सुलेमान मलिक जयवीर चरण सिंह आदि का कहना है कि ऊर्जा निगम द्वारा बिजली की कटौती करके बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियों को बेची जा रही है और आम जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है लोगों को पानी के समय पानी नहीं मिल रहा जो कि प्रतिदिन रोजमर्रा के कार्यों के लिए अति आवश्यक है वही बिजली कटौती से लोगों के लघु उद्योगों पर भी असर पड़ रहा है कुछ दिन पूर्व घोषणा की गई थी कि कस्बा झबरेड़ा को 24 घंटे विद्युत आपूर्ति की जाएगी और शाम के समय जब भोजन करने का समय होता है तो बिजली गुल हो जाती है लोगों ने बिजली आपूर्ति में सुधार करने के लिए कई बार अधिकारियों से गुहार लगाई है परंतु इस और कोई अधिकारी ध्यान नहीं दे रहा है जिससे लोगों में ऊर्जा निगम के प्रति भारी रोष बना हुआ है झबरेड़ा बिजली घर पर तैनात अवर अभियंता संदीप कुमार का कहना है कि बरसात के मौसम में बिजली जनरेसन कम हो जाती है क्योंकि पानी मेला और कूड़े करकट से भरा होता है जिससे टरबाइन चलने में दिक्कत होती है और पूर्ण रूप से बिजली का निर्माण नहीं हो पाता जिस कारण बिजली कटौती की जाती है परंतु आम जनता के लिए कटौती ज्यादा समय की नहीं की जाती जबकि औद्योगिक क्षेत्र की कटौती 24 घंटों से भी अधिक की की जाती है और ऊर्जा निगम कर्मचारियों को विद्युत लाइन में तकनीकी कमी आने के कारण भी विद्युत कटौती की जाती है परंतु तकनीकी कमी को दूर कर विद्युत सप्लाई सुचारू कर दी जाती है।