Breaking News
झबरेड़ा:- गाँव अकबरपुर झोझा में झबरेड़ा पुलिस ने ड्रग्स फ्री देवभूमि मिशन 2025 के अंतर्गत नशा मुक्ति चौपाल लगाई , ग्रामीणों को दी विभिन्न जानकारीझबरेड़ा:- झबरेड़ा पुलिस ने एक गुंडे को किया जिला बदर ,1 महीने तक हरिद्वार जनपद की सीमा में न घुसने की दी चेतावनीझबरेड़ा:- सूर्या एकेडमी पब्लिक स्कूल में आयोजित की गई कुकिंग प्रतियोगिता , छात्र छात्राओं ने अलग-अलग तरह के व्यंजन बनाकर बने प्रशंसा के पात्रझबरेड़ा:- गत वर्ष के बकाया गन्ना भुगतान के साथ-साथ वर्तमान सत्र का भी कुछ गन्ना भुगतान जल्द करेगी इकबालपुर शुगर मिल : समीर सुहागसड़क में लगी एंगल से हो रही दुर्घटनाएं प्रशासन कर रहा अनदेखी
झबरेड़ा:- नीलगाय के झुंड किसानों के खेतों में आकर मचा रहे उत्पात,किसान परेशान – Dainik News – Latest News in Hindi | Breaking News

झबरेड़ा:- नीलगाय के झुंड किसानों के खेतों में आकर मचा रहे उत्पात,किसान परेशान

झबरेड़ा। क्षेत्र के किसानों को नीलगाय के आतंक से जूझना पड़ रहा है झुंडों में आकर नीलगाय फसलों को नुकसान पहुंचा रही है जिससे क्षेत्र के किसान परेशान है।

क्षेत्र के किसान कुलबीर सिंह राजबीर कपिल सैनी नितिन जयपाल सिंह राजपाल यशपाल अर्जुन योगेश चंदन अमित चौधरी विक्रम कुलदीप आदि का कहना है कि कस्बा झबरेड़ा तथा ग्रामीण क्षेत्र में नीलगाय का आतंक दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है नीलगाय झुंड में आकर किसान की फसल को नष्ट करने का काम कर रही है जिस खेत में नीलगाय का झुंड जाता है उस खेत की फसल को चने के साथ-साथ बर्बाद भी कर देती है नीलगाय के आतंक से मुक्ति के लिए किसानों ने जिला प्रशासन वन विभाग के अधिकारियों से कई बार गुहार भी लगाई है परंतु किसानों को राहत पहुंचाने की दिशा में आज तक कोई शुरुआत तक नहीं हो सकी है जिससे किसानों में प्रशासन और वन विभाग के प्रति भारी रोष व्याप्त है किसानों का कहना है कि नीलगायों से त्रस्त किसानों ने नीलगाय के झुंड को भगाने का कई बार प्रयास किया गया परंतु वह अगले ही दिन पुनः लौट आते हैं किसान कहते हैं कि अब नीलगाय से बचाव के लिए आखिर किस अधिकारी के आदेश दर्खास्त की जाए क्योंकि नीलगाय को किसान वन्य जीव होने के कारण मार भी नहीं सकते इसीलिए सरकार और प्रशासन को किसान निधि में ठोस कदम उठाना होगा किसानों का एक की रखवाली 24 घंटे करना संभव नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *