इकबालपुरउत्तराखण्डझबरेड़ारुड़कीलखनोताहरिद्वार

झबरेड़ा::- बकाया गन्ना भुगतान व अन्य मांगों को लेकर कांग्रेस पूर्व मुख्यमंत्री के नेतृत्व में किसानों ने किया एक दिवसीय धरना प्रदर्शन , धरने की भनक लगते ही मिल प्रबंधन मिल से हुआ रफूचक्कर

झबरेड़ा। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि किसान हित की लड़ाई सड़क से लेकर सदन तक लड़ी जाएगी इकबालपुर शुगर मिल प्रबंधन धरना प्रदर्शन का पता लगते ही शुगर मिल छोड़कर भाग गए इस से काम चलने वाला नहीं है किसानों का गन्ना भुगतान हर कीमत पर देना पड़ेगा।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के नेतृत्व में इकबालपुर शुगर मिल प्रांगण में एक दिवसीय हल्ला बोल धरना प्रदर्शन किया गया कांग्रेस नेताओं तथा किसानों द्वारा दिए जा रहे धरना प्रदर्शन में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पेराई सत्र 2017-18 व 2018-19 का इकबालपुर शुगर मिल लगभग 125 करोड रुपए किसानों का गन्ना भुगतान बकाया है किसानों के साथ बार-बार मिल प्रबंधन झूठे वादे कर रहा है जो गलत है इसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा शुगर मिल द्वारा हर बार चीनी बेचकर किसानों का गन्ना भुगतान करने का राग अलापता आ रहा है जबकि सूत्रों से पता लगा है कि चीनी मिल प्रबंधन द्वारा हजारों कुंतल चीनी चोर रास्ते से बेच डाली गई है हरीश रावत ने कहा कि पूर्व में भी उन्होंने किसान हित में गन्ना यात्रा निकाली थी इस बार गन्ना पैदल यात्रा निकाली जाएगी उन्होंने कहा किसानों के हित में वह कुछ भी करने से पीछे नहीं हटेंगे नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा कि इस समय कड़ाके की ठंड पड रही है किसान इतनी ठंड में भी अपने खेतों में जाकर गन्ना छिलता है तथा ट्रैक्टर बोगी में भरकर चीनी मिल में डालता है उसके बावजूद भी उसके गन्ने का पैसा समय पर नहीं मिलना दुर्भाग्य की बात है उन्होंने कहा कि इकबालपुर शुगर मिल कई वर्षों से किसानों का डेढ़ सौ करोड़ रूपया दबाए हुए बैठी है भाजपा सरकार उद्योगपतियों की सरकार है उद्योगपतियों के काम भाजपा की सरपरस्ती में चल रहे हैं यह भाजपा सरकार किसानों की आय दोगुना करने का वादा बार-बार करती है दूसरी ओर किसानों का करोड़ों रुपया इकबालपुर शुगर मिल दबाए बैठा है उस पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है किसानों की आर्थिक स्थिति दयनीय होती जा रही है इसकी जिम्मेदार भाजपा सरकार है।

क्षेत्रीय विधायक वीरेंद्र जाति ने कहा कि गन्ना बकाया भुगतान को लेकर कांग्रेस विधायकों द्वारा सदन में भी अपनी बात रखी थी लेकिन भाजपा सरकार को किसानों की चिंता नहीं है किसानों की बात भाजपा सरकार सुनने को तैयार ही नहीं है पूर्व राज्य मंत्री डॉ गौरव चौधरी ने कहा कि इकबालपुर शुगर मिल पर किसानों का लगभग डेढ़ सौ करोड रुपया बकाया है सीधी उंगली से घी निकलने वाला नहीं है इसके लिए हम सब को एकत्रित होकर लड़ाई लड़नी होगी दूसरी ओर इकबालपुर शुगर मिल गन्ना प्रबंधक ओमपाल सिंह तोमर ने धरना प्रदर्शन दे रहे कांग्रेस नेताओं तथा किसानों को आश्वासन देते हुए कहा कि 2017-18 का गन्ना भुगतान जो 9.5 करोड़ रूपया है वह जनवरी माह में दे दिया जाएगा तथा सन 2018-19 का गन्ना भुगतान पर शुगर मिल मालकिन का कहना है कि किसानों की पाई पाई दी जाएगी किसानों का गन्ना भुगतान चाहे उन्हें अपने प्रॉपर्टी बेचकर क्यों न देना पड़े गन्ना भुगतान शीघ्र ही कर दिया जाएगा चालू सीजन का 7 दिसंबर तक का गन्ना भुगतान कर दिया गया है अगले हफ्ते 15 दिसंबर तक का गन्ना भुगतान कर दिया जाएगा इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक वीरेंद्र जाति भगवानपुर विधायक ममता राकेश कलियर विधायक फुरकान अहमद ज्वालापुर विधायक राव बहादुर वीरेंद्र रावत पूर्व राज्यमंत्री डॉ गौरव चौधरी सतपाल ब्रह्मचारी ऋषि पाल बालियान रश्मि चौधरी गोपाल नारसन अमित कुमार रूप चौधरी अल्लाह दिया डॉक्टर अनिल एयाज अहमद सुरेंद्र सैनी विकास त्यागी उदय त्यागी अवनीश कुमार कार्तिक यशवीर सिंह आदि उपस्थित रहे कार्यक्रम का संचालन वीरेंद्र ठाकुर द्वारा किया गया।

कांग्रेस तथा किसानों द्वारा इकबालपुर शुगर मिल में धरना प्रदर्शन का पता लगते ही शुगर मिल मुख्य प्रबंधक समीर सुहाग परचेज प्रबंधक बी एन चौधरी तथा फाइनेंसर परमजीत सिंह शुगर मिल में नही मिले फोन भी बंद पाए गए इस पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि शुगर मिल प्रबंधन कब तक भागेगा हम यहां तब तक आते रहेंगे जब तक किसानों का गन्ना भुगतान नहीं हो जाता।

धरना प्रदर्शन के बाद कांग्रेसी नेताओं द्वारा अपना मांग पत्र गन्ना मंत्री के नाम प्रेषित किया गया मांग पत्र में गन्ने की खरीद मूल्य अविलंब घोषित की जाए किसानों का 125 करोड़ रुपिया जो शुगर मिल पर बकाया है उसे 4 तथा 6 किस्तों में भुगतान कराया जाए गुड को राज्य कुटीर उद्योग का दर्जा दिया जाए गुड प्रोत्साहन नीति बनाई जाए इकबालपुर चीनी मिल में जो चीनी चोरी की गई है चीनी चोरी कर विक्रय करने वाले दोषियों को दंडित किया जाए इकबालपुर चीनी मिल को चलाए रखने की गारंटी दी जाए इसकी प्रतिलिपि जिलाधिकारी हरिद्वार तथा उप जिला अधिकारी भगवानपुर व इकबालपुर शुगर मिल प्रबंधक को दी गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button