इकबालपुरउत्तराखण्डझबरेड़ारुड़कीलखनोताहरिद्वार

झबरेड़ा::- हाड़ कंपा देने वाली ठंड ने जहाँ जनजीवन किया अस्त व्यस्त वहीं पशुओं को चारे की समस्या तो सूखा इंधन ना होने से कुछ गन्ना कोल्हू हुए बंद

झबरेड़ा। हाड कपा देने वाली ठंड में किसानों के सामने जहां पशु चारे की समस्या खड़ी हो गई है वही ईंधन की कमी से कई गन्ना कोल्हू कस्बे में क्षेत्र में बंद हो गए बाजार में दुकानदार इकट्ठे होकर अलाव जलाकर सर्दी कम करने का प्रयास कर रहे हैं।

सर्दी अधिक बढ़ने के कारण किसानों के खेत में गन्ना पेडी लगभग समाप्त हो जाने के कारण किसानों के सामने पशु चारे की समस्या खड़ी हो गई है इस समय अधिक सर्दी होने से खेत में खड़ी बरसीम की फसल की पैदावार बहुत कम चलती है किसान इस समय अपने पशुओं को भूसा के साथ-साथ धान की पुराल तथा गन्ने की पत्ती तक कुट्टी मशीन में काटकर खिला रहे हैं किसान राजपाल सिंह यशवीर सिंह कपिल सैनी मोनू ईश्वर सुभाष सुशील आदि का कहना है कि दूध देने वाले पशुओं को इस समय अच्छा चारा न मिल पाने से दूध देने की मात्रा भी काफी कम हो गई है जिससे किसान परेशान है कस्बे व क्षेत्र में चल रहे गन्ना कोल्हू में रस पकाने के लिए सूखा ईंधन भी न होने के कारण कई गन्ना कोल्हू बंद हो गई हैं गन्ना कोल्हू संचालक बालू अहमद सत्तार अहमद इकराम अहमद मांगेराम खजान फैयाज हसरत सोना नवाब आदि का कहना है कि गन्ना कोल्हू चलाने के लिए सूखे इंधन की आवश्यकता होती है गन्ने से निकलने वाला रस सूखे इंधन से पका कर ही गुड बनाया जाता है गन्ना पेराई के बाद निकलने वाली कोई सूखे ईंधन के रूप में काम आती है धूप न निकलने के कारण गन्ने से निकलने वाली खोई न सूखने के कारण गन्ना संचालकों के आगे समस्या खड़ी हो गई है कस्बे के बाजार का भी यही हाल है दुकानदारों का कहना है कि सर्दी अधिक होने के कारण ग्राहकों की संख्या आधे से भी कम हो गई है कड़कड़ाती ठंड से बचने के लिए अलाओ ही एकमात्र सहारा रह गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button