Breaking News
झबरेड़ा:- पूर्व विधायक चौधरी यशवीर सिंह व पूर्व राज्य मंत्री डॉ गौरव चौधरी से आशीर्वाद लेने पहुंची नगला कुबड़ा सीट से नवनिर्वाचित जिला पंचायत सदस्य अनीताझबरेड़ा:- टायर रोड टूटने से ट्रक गन्ने के खेत में घुसा , ट्रक चालक ने कूदकर बचाई जानझबरेड़ा:- प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र झबरेड़ा आज भी कर रहा डॉक्टर का इंतजार , मरीजों को दवाई देने वाले फार्मेसिस्ट का 4 माह पहले हो गया तबादला , स्वास्थ्य केंद्र राम भरोसेझबरेड़ा:- नगर पंचायत अध्यक्ष चौधरी मानवेंद्र सिंह द्वारा स्ट्रीट लाइट का उद्घाटन करते ही कस्बा झबरेड़ा जगमगा उठा , कस्बा वासियों ने नगर पंचायत अध्यक्ष का जताया आभारझबरेड़ा:- कोटवाल आलमपुर में मतदान के दौरान फर्जी वोट डालने के मामले में नाबालिक के खिलाफ कराया मुकदमा दर्ज
झबरेड़ा:- कस्बा व ग्रामीण क्षेत्र में गन्ना कोल्हू संचालित होने से गुड का कारोबार हुआ शुरू – Dainik News – Latest News in Hindi | Breaking News

झबरेड़ा:- कस्बा व ग्रामीण क्षेत्र में गन्ना कोल्हू संचालित होने से गुड का कारोबार हुआ शुरू

झबरेड़ा। कस्बा स्थित गन्ना कोल्हू में गन्ना पेराई का कार्य भूमि पूजन व मिष्ठान वितरित कर शुभारंभ किया गया इस समय गन्ना मूल्य 250 से लेकर 270 रुपए प्रति कुंतल खरीदा जा रहा है।

कस्बे में प्रतिवर्ष दर्जनों की संख्या में गन्ना कोल्हू लगाकर संचालित किए जाते हैं इस समय गन्ना कोल्हू किसानों द्वारा संचालित करने के लिए तेजी से काम चल रहा है कस्बे में आधा दर्जन गन्ना कोल्हू में गन्ना पेराई का कार्य शुरू कर दिया गया है कस्बे व आसपास ग्रामीण क्षेत्र के अलावा दूरदराज से भी किसान अपना गन्ना अपने-अपने वाहनों में लेकर यहां पर बेचने के लिए आते हैं कस्बे में आधा दर्जन धर्म कांटे लगे हुए हैं इन्हीं धर्मकांटो पर किसान अपना गन्ना ट्रैक्टर ट्राली ट्रैक्टर बोगियों में लेकर सुबह ही आ जाते हैं इन्हीं धर्म कांटे पर गन्ना कोलू संचालित कर रहे किसान व ठेकेदार भी आ जाते हैं तथा किसान से उसके गन्ने का दाम तय करने के बाद धर्म कांटे पर अपना गन्ना तोलने के बाद अपने गन्ना कोल्हू में ले जाते हैं यहां पर किसानों को उनके गन्ने का दाम नगद दिया जाता है इस समय गन्ना मूल्य 250 से 270 रुपये प्रति क्विंटल खरीदा जा रहा है तथा गुड मंडी में गुड़ 3800 रुपए कुंटल जा रहा है गन्ना कोल्हू संचालित किसानों व ठेकेदारों का कहना है कि इस समय गन्ना रस में गुड की रिकवरी काफी कम होने के कारण गन्ना मूल्य कम है इस समय गन्ना रस से गुड बनाने के लिए चीनी का प्रयोग करना पड़ रहा है दूसरी ओर गन्ना कोल्हू में गन्ना डालने वाले किसानों राजवीर सिंह संजय भगत सिंह तेजपाल सुभाष सतीश आदि का कहना है कि अधिकतर किसानों के पास रोजी-रोटी व आय का साधन केवल कृषि ही है कई महीने से किसानों की आय बंद होने से किसानों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई थी घर के खर्चे बराबर चलते रहते हैं इसलिए कम दाम में भी अपना गन्ना मजबूरी में गन्ना कोल्हू में बेचना पड़ रहा है किसानों का कहना है कि गन्ना कोल्हू में भी सरकार की ओर से गन्ना दाम तय किया जाना आवश्यक है जिससे किसानों को उसके गन्ने का उचित मूल्य मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.