Breaking News
झबरेड़ा:- पूर्व विधायक चौधरी यशवीर सिंह व पूर्व राज्य मंत्री डॉ गौरव चौधरी से आशीर्वाद लेने पहुंची नगला कुबड़ा सीट से नवनिर्वाचित जिला पंचायत सदस्य अनीताझबरेड़ा:- टायर रोड टूटने से ट्रक गन्ने के खेत में घुसा , ट्रक चालक ने कूदकर बचाई जानझबरेड़ा:- प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र झबरेड़ा आज भी कर रहा डॉक्टर का इंतजार , मरीजों को दवाई देने वाले फार्मेसिस्ट का 4 माह पहले हो गया तबादला , स्वास्थ्य केंद्र राम भरोसेझबरेड़ा:- नगर पंचायत अध्यक्ष चौधरी मानवेंद्र सिंह द्वारा स्ट्रीट लाइट का उद्घाटन करते ही कस्बा झबरेड़ा जगमगा उठा , कस्बा वासियों ने नगर पंचायत अध्यक्ष का जताया आभारझबरेड़ा:- कोटवाल आलमपुर में मतदान के दौरान फर्जी वोट डालने के मामले में नाबालिक के खिलाफ कराया मुकदमा दर्ज
झबरेड़ा:- एक व्यक्ति ने अवर अभियंता पर 50,000 रिश्वत लेने का लगाया आरोप, मामले की जांच के लिए अधीक्षण अभियंता को भेजा पत्र – Dainik News – Latest News in Hindi | Breaking News

झबरेड़ा:- एक व्यक्ति ने अवर अभियंता पर 50,000 रिश्वत लेने का लगाया आरोप, मामले की जांच के लिए अधीक्षण अभियंता को भेजा पत्र

झबरेड़ा। एक व्यक्ति ने कस्बा स्थित विद्युत सब स्टेशन पर कार्यरत जेई को रिश्वत न देने पर अधिक स्टीमेट बनाने का आरोप लगाया है।

क्षेत्र ग्राम भक्तोंवाली निवासी नीटू ने विद्युत अधीक्षण अभियंता को शपथ पत्र देकर बताया कि झबरेड़ा इकबालपुर मार्ग पर कस्बे के पास ही वह धर्मकांटा व मकान का निर्माण कर रहा है धर्म कांटे के ऊपर को 11000 केवी की विद्युत लाइन जा रही है विद्युत लाइन को शिफ्टिंग करवाने के लिए उसने अधिशासी अभियंता ग्रामीण के यहां आवेदन किया था विद्युत शिफ्टिंग के लिए आवेदन के बाद विभाग के द्वारा 1 लाख 4 हजार का स्टीमेट बनाया गया था यह एस्टीमेट जांच के लिए कस्बे में स्थित विद्युत सब स्टेशन पर कार्यरत जेई के पास भेज दिया गया था जेई द्वारा 50000 की रिश्वत मांगी गई थी पैसे ना मिलने पर दोबारा एस्टीमेट 2 लाख 70 हजार का बनाया गया है उक्त व्यक्ति ने अधीक्षण अभियंता विद्युत द्वारा जांच कर कार्रवाई करने की मांग की है अवर अभियंता जंबल सिंह ने कहा कि उक्त व्यक्ति द्वारा उन पर लगाया गया इल्जाम सरासर झूठ है उनके द्वारा जो स्टीमेट बनाया गया है वह स्थिति का जायजा लेकर ही बनाया गया है उधर ऊर्जा निगम के अधीक्षण अभियंता मुनीश चंद्रा का कहना है कि उनको एक शिकायती पत्र मिला है शिकायती पत्र के आधार पर मामले की जांच की जा रही है अगर शिकायती पत्र मे लगाए गए एग्जाम सही पाए जाते हैं तो संबंधित ऊर्जा निगम के कर्मचारी के खिलाफ उचित कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.